loading...

India Ka First Hinglish Novel - Raiders of labyrinth - भूलभुलैया का रहस्य

India Ka First Hinglish Novel - Raiders of labyrinth - भूलभुलैया का रहस्य


सार :


[caption id="attachment_2659" align="alignright" width="304"]India Ka First Hinglish Novel - Legend of the Labyrinth - भूलभुलैया का रहस्य India Ka First Hinglish Novel - Legend of the Labyrinth - भूलभुलैया का रहस्य[/caption]

आज से 2000 साल पहले एक रहस्यमयी Wheel की रक्षा करते हुए Nalanda University के Principal की मौत हो जाती है | 1992 में एक छोटा बच्चा विरासत में एक खौफनाक रहस्य पाता है | 2015 में एक रहस्यमयी अजनबी Chennai Airport से बाहर आता है और अँधेरे में गुम हो जाता है |

2000 साल  बाद Colombo के पास की एक  भूलभुलैया  में उस पुराने रहस्य को प्राप्त करने की कोशिश हो रही है |  एक ऐसा रहस्य जो दुनिया का विनाश कर सकता है  |

2016 में एक Hacker Bangalore में depression से भरी  जिंदगी बीता रहा है | तभी एक Advocate उसके पास एक रहस्यमयी वसीयत के साथ आता है | उसे एक अजीबोगरीब Key और Puzzle मिलते हैं |

Tower-13 of first telegraph is your next Jaunt

ASB/Chapter-8 near Dead CM has what you want

Puzzle solve करते वक़्त - वह भी उस 2000 साल पुरानी लड़ाई का हिस्सा बन जाता है | क्या वो दुनिया बचा पायेगा ?

 

ये सब जानने केलिए पढ़िएIndia Ka First Hinglish Novel भूलभुलैया का रहस्य |

P.S : This book is for thrillers, mystery solving and puzzle fans. India Ka First Hinglish Novel.

Sponsored by : Sanjeev Jha




India Ka First Hinglish Novel


आज Nalanda University का Abbott अपने Room में टहल रहा था | उसका Room tamra-patron से भरा हुआ था | वह बार-बार समय देख रहा था |जल्द ही वह यादो में खो गया | Wheel छुपाने का decision अच्छा था | यह सलाह उसे Kharnaripa ने दी थी | ये उसके लिये आसान नहीं था | Wheel उसके scientific life की सबसे बड़ी achievement थी | पर अंत में उसे मानना पड़ा की गलत हाथों में wheel दुनिया का विनाश कर देगी |वह खुद भी monks में बदलाव आता देख रहा था | लालच बहुतों पे हावी हो रहा था | उसने god से Kharnaripa के लिये pray किया | वह रात को wheel ले कर निकल गया था | Continue Reading ...


Powered by Blogger.
HJ News Online