loading...

कुंग फू कैसे खेले - नियम और टिप्स की जानकारी हिंदी मे

[caption id="attachment_4190" align="aligncenter" width="250"]कुंग फू कैसे खेले - नियम और टिप्स की जानकारी हिंदी मे कुंग फू कैसे खेले - नियम और टिप्स[/caption]

आज का हमारा टॉपिक हैं कुंग फू कैसे खेले. आज के इस टॉपिक के बारे में आपको बताने से पहले हम आपको यह बताना चाहते हैं की एक्चुअली कुंग फू कहते किसे हैं. क्योंकि कुछ लोगों को कुंग फू का मतलब ही पता नही होता. ऐसे ही लोगों को जानकारी देने के लिए मैं आज यह बताना चाहती हूँ की कुंग फू का मतलब क्या हैं और कुंग फू किसे कहते हैं. कुंग फू का मतलब हैं बिना हथियार के कराटे करना. यह एक चाइनीज कला हैं. इसकी उत्पत्ति चाइना में ही हुई हैं लेकिन अब यह कला इंडिया में भी आ चुकी हैं.



कुंग फू कैसे खेलेमार्शल आर्ट्स


बहुत लोगो को कराटे का बहुत ज्यादा शौक होता हैं और वो कराटा सीखना चाहते हैं. ऐसे ही लोगों के लिए हम आज अपने इस लेख में आप लोगो को बताना चाहते हैं की कुंग फू एक्चुअली में करते कैसे हैं ताकि अगर किसी को कुंग फू करने का शौक हो' और वो यह ना जानने के वजह से कुंग फू नही कर पा रहे हैं की कुंग फू कैसे करते हैं तो वो जान सके की कंग फू कैसे करते हैं. वैसे तोह हमे अगर ठान ले तो कुछ भी करना इम्पॉसिबल नहीं हैं लेकिन कुच्छ भी करने के लिए हमारा यह जान लेना बहुत ज्यादा ज़रूरी हैं की एक्चुअली मैं वो काम किया कैसे जाता हैं. तो देर किस बात की आइए बिना एक भी पल गवाए हम जान लेते हैं की कुंग फू कैसे खेले.



कुंग फू कैसे खेले - नियम



  1. आप अगर कुंग फू करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको यह देखना होगा कि कुंग फू किया कैसे जाता हैं. कुंग फू करने के लिए आपको सबसे पहले अपने मन को पूरी तरह से शांत करना होगा. अपने मन को शांत करने के लिए आप कम से कम 5 मिनट के लिए ध्यान करिए. आप इस टाइम मैं अपनी लाइफ में घटित हो रही हर बात को भूल जाइए. बस एक ही चीज आप को याद रखना हैं और वो हैं आपका लक्ष्य. अपने नोज से आप लंबी लंबी सांस लीजिए और धीरे धीरे मुंह से सांस छोड़ें. ईस 5 मिनट तक आप अपने खाली कमरे के बीच एक आग के गोले को अनुभव करो. अपने अंदर एक जोश और उमंग भर लीजिए.

  2. 5 मिनट ध्यान करने के बाद आप थोड़ी देर के लिए पुश अप, सीट अप, लेग लिफ्ट, रिवर्स पुश अप करिए. क्यूकी आएसए एक्सरसाइज से आपके शरीर का हर एक अंग और भी जादा मजबूत हो जाएगा. कराटे के लिए एक्सरसाइज करना बहुत जरूरी हैं क्यूकी कराटे के लिए शरीर के हर एक अंग को मज़बूत होना बहुत ज्यादा ज़रूरी हैं.

  3. एक्सरसाइज के बाद थोड़ी देर के लिए शरीर को आराम मिलना बहुत ज़रूरी हैं. इसीलिए एक्सरसाइज करने के बाद आप थोड़ी देर के लिए कम से कम 15 मिनिट के लिए स्ट्रेच कर लीजिए.

  4. आप कराटे के लिए एक दामी का इस्तेमाल कर सकते हैं. आप पंचिंग बैग का यूज़ करके भी अपने कराटे की प्रैक्टिस कर सकते हैं और अपने आप को कराटा चैंपियन बनाने के लिए तैयार कर सकते हैं.

  5. आप जब भी रियल मैं कराटा कर रहे हो तो अपने प्रतिद्वंदी को ना ही खुद से कमजोर समझे और ना ही खुद से ताकतवर समझे.



  1. आप हमेशा अपने प्रतिद्वंद्वी के आँख से आँख मिलाकर उसका सामना करे. आप कभी भी ज्यादा ओवर कॉन्फिडेंट ना हो और खुद पर से कभी भी अपना भरोसा ना खोए.

  2. आप जब भी अपने प्रतिद्वंदी पर वार करे तो पूरी तरह से निडर होकर उस पर वार करे क्योंकि जब भी आपकी आँखों में या आपके चेहरे पर ज़रा भी दर्द दिखेगा तो प्रतिद्वंदी का कॉन्फिडेंस और ज्यादा बढ़ जाएगा. और जब आपका प्रतिद्वंदी और ज्यादा कॉन्फिडेंट हो जाएगा तो वो पूरे जोश के साथ आप पर वार करेगा और तब वो आपको हरा भी सकता हैं.

  3. हमेशा अपनी ड्रेस और लुक के साथ परफेक्ट और बिंदास रहे. मेरा मतलब है कि आपको जब भी कराटे के लिए मैदान मैं उतरना हो तो उसे से पहले आप ज्यादा स्ट्रेस ना ले. और फुल्ली कॉन्फिडेंट के साथ मैदान में उतरे. आप अपने आप पर हमेशा प्राउड फील करे.


ऊपर दिए गए लेख को ध्यान से पढ़ने के बाद आप लोगो को तो समझ में आ ही चुका होगा कि कुंग फू कैसे खेले. कोई भी काम हमारे लिए तब तक ही मुश्किल होता हैं जब तक हम उसी काम को मुश्किल समझते हैं. लेकिन जैसे ही हम किसी काम को करने का एक बार ठान लेते हैं तब ही से वो काम हमारे लिए धीरे धीरे आसान बनता जाता हैं और एक पल ऐसा आता हैं जब वो काम हमारे लिए एकदम ईजी हो जाता हैं और तब हम उस काम को भी बड़ी आसानी से कर लेते हैं जिस काम को करना हमारे लिए कभी काफी मुश्किल हुआ करता था.


इसीलिए किसी काम को मुश्किल समझ कर हाथ पर हाथ रख कर बैठे रहने से काफी बेटर हैं कि हम उस काम को करने की कोशिश करे. ताकि मुश्किल काम भी हमारे लिए आसान हो सके. कुंग फू भी एक आएसा ही काम हैं जो पहले पहले तो बहुत ज्यादा मुश्किल होता हैं. लेकिन अगर हम इस काम को पूरी निष्ठा और मेहनत के साथ करे तो धीरे धीरे यही काम हमारे लिए बहुत आसान और सहज हो जाता हैं.


लेकिन कुच्छ लोग ऐसे स्वभाव के होते हैं जो कुच्छ भी करने से पहले ही हार मान जाते हैं. ऐसे लोगो को लगता हैं की वो लोग उस काम को नही कर पाएँगे जो काम वो करना चाहते हैं. इसी सोंच के कारण वो लोग चाहते हुए भी कुच्छ भी नही कर पाते हैं. और कुच्छ लोग ऐसे होते हैं जो किसी काम को करना भी चाहते हैं और उस काम को करने की हिम्मत भी रखते हैं लेकिन उन्हें यह पता ही नहीं होता कि उस काम को किया कैसे जाता हैं. ऐसे ही कुच्छ लोगों के लिए हैं हुमारा आज का यह लेख.


जिन लोगों को कुंग फू करने का बहुत ज्यादा शौक हैं मगर उन लोगों को यह पता नहीं है की कुंग फू कैसे खेले. तो उन्हीं के जैसे लोगों के लिए हम हमारा आज का यह लेख लेकर आए हैं. तो जो लोग कुंग फू करना चाहते हैं वो लोग हमारे आज के इस लेख को ध्यान से पढ़े. मुझे पूरी उम्मीद हैं कि इस लेख को ध्यान से पढ़ने के बाद उन लोगो को भी कुंग फू करना अच्छे से आ जाएगा जिन लोगो को कुंग फू करना नही आता हैं. तो आप लोग हमारे आज के इस लेख को ध्यान से पढ़िए और अपने कुंग फू करने के सपने को सच करके अपनी लाइफ को अच्छे से एंजाय करें.

Powered by Blogger.
HJ News Online